प्रस्तावित स्टॉप डेम के पास कर रहे थे बेजा कब्ज़ा, निगम ने की कार्यवाही

acn18.com/ मनोज यादव. कोरबा. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा पिछले दिनों 836 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन करने के साथ कई घोषणा भी की गई। आगामी दिनों में ऐसी योजना पर काम होना है। कोरबा शहर के घंटाघर क्षेत्र में कि कोरबा कंप्यूटर कॉलेज के पास का नाला कई कारणों से समस्या मूलक बना हुआ है। इसलिए इस समस्या को दूर करने के लिए कोरबा म्युनिसिपल कारपोरेशन ने स्टॉप डेम बनाना प्रस्तावित किया है। इससे पहले ही नाले के आसपास अवैध कब्जा बढ़ने लगा है। इस तरह की शिकायतों पर कारपोरेशन ने संज्ञान लिया उसकी टीम ने यहां पहुंचकर ऐसे अवैध कब्जों को हटाने की कार्रवाई की। इस कार्रवाई से पहले कारपोरेशन के द्वारा संबंधित लोगों को नोटिस दिए गए और समय से पहले अपना कब्जा हटाने को कहा गया था। लोगों ने इसकी अवहेलना की और यहां पर अड़े रहने का प्रयास किया। नगर निगम की टीम के कर्मचारी विकास शुक्ला ने बताया कि अवैध रूप से यहां पर किए गए कब्जा को हटाने का काम किया गया है।
इस कड़ी में एक व्यक्ति को बुधवारी क्षेत्र में ठेला लगाने की अनुमति दी गई थी। लेकिन उसने अपना क्षेत्र बदलने के साथ यहां पर जमने का प्रयास किय। बताया गया कि अवैध कब्जा के मामलों में संबंधित लोगों को हटाने के साथ पेनल्टी की जा रही है।
यह बताना आवश्यक होगा कि 1 महीने पहले ही कोरबा कारपोरेशन ने महाराणा प्रताप नगर 20 से अधिक कब्जों को हटाने की कार्रवाई की थी। इसके साथ यह भी कहा था कि जिन फेब्रिकेशन से इस प्रकार के काम कराए जा रहे हैं उन पर भी पेनल्टी करने के साथ उनके गुमास्ता लाइसेंस रद्द कराने की कार्रवाई की जाएगी। इन सब के बावजूद रफ्तार से कोरबा क्षेत्र में अवैध कब्जा के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसा लगता है कि अवैध कब्जा धारियों के हौसले बुलंद हो रहे हैं। इसके पीछे किन लोगों का संरक्षण मिला हुआ है यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है।