सर्वमंगला मंदिर के बाहर खड़ी कार में घुसा विशालकाय अजगर… सांप को देखने उमड़ पड़ी भीड़ को पुलिस ने किया नियंत्रित।

 

कोरबा में सांप निकलना आम बात हो गई हैं, जिले के हर विभाग संस्था गाली मोहल्ले में आए दिन सांप मिलने की जानकारी मिलते रहती हैं पर अगर मंदिर में निकले तो लोगों में श्राद्ध रूपी दर्शन को भीड़ इकट्ठा हो जाती हैं ऐसा ही कुछ मामला आज कोरबा जिले में प्रख्यात मां सर्वमंगला मंदिर में हुआ नवरात्रि का आज अष्टमी और नवमी दोनों एक साथ पड़ने पर सर्वमंगला मंदिर में देवी दर्शन के लिए भारी भीड़ इकट्ठा थी,पीयूष अग्रवाल नामक एक व्यक्ति पूजा अर्चना के लिए अपनी कार पार्क कर मंदिर पहुंचे थे जब पूजा अर्चना करने के उपरांत अपने कर के पास पहुंचे तो भीड़ उनके कार को घेर के खड़ी थी लोगों ने पीयूष अग्रवाल को बताया उसके कर में सांप घुस गया हैं जिसके बाद पीयूष अग्रवाल ने स्नेक रेस्क्यू टीम के प्रमुख जितेंद्र सारथी को इसकी सूचना दी जिसके बाद जितेंद्र सारथी मौके पर पहुंचे उन्होंने बिना देरी किए रेस्क्यू ऑपरेशन चालू किया, मंदिर में देवी दर्शन को आए सभी लोगों तक इसकी जानकारी पहुंच गई साथ ही आस पास में सांप होने की बात आग की तरह फ़ैल गई फिर क्या था चारो तरफ भीड़ इकट्ठा हो गई, रेस्क्यू करते जितेंद्र सारथी कार के नीचे गए फिर काफी देर तक ईधर उधर करने के बाद अजगर दूसरी तरफ से निकलना चालू कर दिया देखने ही देखते अजगर सांप कार के उपर आगया जिसके बाद लोगों में और भगदड़ मच गया जिसको काबू करने के लिए पुलिस बल की सहायता लेनी पड़ी, जितेंद्र सारथी ने बताया अजगर साप करीब 9 फीट का हैं जो नदी के आस पास होने की वजह से भटक के कार में आकर घुस गया, रेस्क्यू ऑपरेशन खतम होने पर लोगों ने जितेंद्र सारथी की प्रशंसा की जिसके लिए सभी लोगों ने तालियां बजाकर धन्यवाद किया , रेस्क्यू खतम होने के बाद भीड़ खतम हुए साथ ही लोग मां सर्वमंगला देवी के पूजा अर्चना में पुनः लग गए।

टला एक बड़ा हादसा।
जितेंद्र सारथी ने बताया अगर ये लोगों को नहीं दिखाई दिया होता तो साप उसी में रह कर घर तक पहुंच सकता था और सुना होते ही घर में निकाल जाता जो बड़ी उन्होंने हो सकती थी, साथ ही ये भी कहा गाड़ी चलते समय सांप को चोट भी लग सकता था या वो खतम भी हों सकता था, जितेंद्र सारथी ने सभी से अनुरोध किया गड़ियो को झाड़ी और अंधेरे में खड़ा न करें अक्सर अंधेरे में ही सांप गाड़ियों में घुस कर बैठ जाते हैं।