युवक ने कोरोना की दवाई बताकर परिवार को पिला दिया जहर; तीन बच्चों और पत्नी सहित अस्पताल में भर्ती

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार शुक्रवार सुबह एक युवक ने तीन बच्चों और पत्नी को जहर देने के बाद खुदकुशी की कोशिश की। पड़ोसियों ने देखा तो सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी हालत गंभीर है। बताया जा आर्थिक स्थिति कमजोर होने और कर्ज के चलते युवक ने ऐसा कदम उठाया। वह शराब का आदी है।

खरोरा क्षेत्र के ग्राम पंचायत केसला निवासी प्रेम नारायण देवांगन ने शुक्रवार को अपने परिवार को जहरीला पदार्थ पिला दिया। इसके बाद खुद भी पी लिया। सुबह करीब 9 बजे पड़ोसी सरस्वती देवांगन ने दरवाजा खटखटाया। काफी देर तक कोई आवाज नहीं मिली तो उन्होंने पड़ोसियों को सूचना दी।

घर में सभी बेहोशी की हालत में मिले
जानकारी मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और दरवाजा खोला। अंदर प्रेम नारायण, उसकी पत्नी कामिनी (30) बेहोश पड़े हुए थे, जबकि दूसरे कमरे में बच्चे प्रिया (11), गायत्री (9) और तुलेशवर (7) बेहोशी की हालत में थे। सभी को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक बच्ची ने पुलिस को बताया कि पापा ने कोरोना की दवाई बताकर पिलाया था।

शराब का आदी है युवक, इसकी चक्कर में जमीन तक बिक गई
बताया जा रहा है कि युवक आदतन शराबी है। शराब के चलते उसने बहुत सारे लोगों से कर्ज ले रखा है। इस कर्ज को चुकाने की चक्कर में उसने अपनी जमीन भी बेच दी। आर्थिक रूप से टूटने और कर्ज के चलते वह अवसाद में था। इसी के चलते उसने पत्नी और बच्चों को जहर देने के बाद आत्महत्या की कोशिश की।